National

सर्जिकल स्ट्राइक के हीरो लांस नायक संदीप सिंह जम्‍मू कश्‍मीर में शहीद

सर्जिकल स्‍ट्राइक से भारत का स्‍वाभ‍िमान बढ़ाने वाले हीरो रहे संदीप सिंह तंगधार में घुसपैठियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए हैं। तंगधार में आर्मी के जवान घुसपैठियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे थे। उसी वक्‍त दुश्मन की गोली उनको लग गई। दुश्‍मन से लोहा लेते वक्‍त उन्‍होंने तीन आतंकवादियों को मार गिराया था। संदीप सिंह सेना के स्‍पेशल कमांडो बन कर सर्जिकल स्‍ट्राइक का अहम हिस्‍सा रहे थे।

बता दें कि सितंबर 2016 में भारत ने पाकिस्‍तान के खिलाफ सर्जिकल स्‍ट्राइक कर दुश्‍मनों के लांच पैड का तबाह कर कई आंत‍की शिविरों को नष्‍ट कर दिया था। इस कार्रवाई में कई आंत‍की जो सीमा पार करने की फिराक में थे वह भी मारे गए थे।
भारतीय सेना की इस कार्रवाई से पूरा देश खुश था, वहीं दुश्‍मन हैरान था। संदीप अपनी पीछे एक हंसता-खेलता परिवार छोड़ गए हैं। संदीप को एक पांच साल का बेटा भी है। उनकी पत्‍नी और परिवारजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

2007 में सेना में भर्ती हुए थे संदीप…

2007 में संदीप सेना में भर्ती हुए थे। उनकी ड्यूटी 4 पैरा उधमपुर में थी। घुसपैठ की सूचना पर उन्हें तंगधार भेजा गया था। बता दें कि रविवार को एलओसी पर आतंकियों ने घुसपैठ की जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। इसी मुठभेड़ में संदीप सिंह घायल हो गए और श्रीनगर के 92 बेस अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया।

संदीप ने अपनी जान की परवाह न करते हुए…

अपनी जान की भी परवाह नहीं की संदीप ने सेना को श्रीनगर से 190 किलोमीटर पठरी बेहाक में, जो तंगधार में आता है, वहां कुछ आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। इसके बाद शुरू हुए एनकाउंटर में आतंकियों को ढेर किया गया। सूत्रों के मुताबिक लांस नायक संदीप सिंह को सिर में गोली लग गई थी और जिस समय उन्‍हें एनकाउंटर साइट से बाहर निकाला जा रहा था, उसी समय उनकी मौत हो गई थी। संदीप ने अपनी जान की परवाह न करते हुए अपनी टीम के बारे में सोचा। जैसे ही उन्‍हें इस बात का आभास हुआ कि उनकी टीम खतरे में है, वह दुश्‍मन के सामने खड़े हो गए। मारे गए आतंकियों के पास से सेना को भारी मात्रा में हथियार भी बरामद हुए हैं।

क्‍यों हुई थी सर्जिकल स्‍ट्राइक…

28-29 सितंबर को सेना की तरफ से पीओके में सर्जिकल स्‍ट्राइक की गई थी। यह सर्जिकल स्‍ट्राइक 18 सितंबर 2016 को उरी स्थित आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले के बाद हुई थी जिसमें 18 जवान शहीद हो गए थे। लांस नायक संदीप सिंह उसी पैरा-कमांडो टीम में शामिल थे जिन्‍होंने पीओके में आतंकी कैंप्‍स को तबाह किया था। पुलिस  सूत्रों की ओर से बताया गया है कि मारे गए सभी आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!